दोषपूर्ण बिजली मीटर-समाधान के लिए क्या करें? हिंदी में जानकारी

दोषपूर्ण बिजली मीटर-समाधान के लिए आप क्या कर सकते हैं:- अन्य डिवाइस तथा उपकरणों की दर से बिजली मीटर भी कभी भी खराब हो सकता है लेकिन आप इसका यह मतलब ना निकाले कि यह अधिक बिजली बिल का एकमात्र कारण होते हैं लेकिन यह कारण अधिक बिजली बिल के लिए जिम्मेदार हो सकता है।

यदि आप यह पता करना चाहते हैं कि आपका बिजली मीटर खराब है अथवा नहीं तो इसके लिए आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ें इसमें हमने आपके लिए कुछ तरीके बताए हैं जिनका उपयोग करके आप पता कर सकते हैं कि आपका बिजली मीटर दोषपूर्ण है या नहीं। अगर आपका बिजली मीटर दोषपूर्ण है तो इस स्थिति में आप इसे अपना सामान्य स्थिति में लाने के लिए क्या कर सकते हैं यह सारी जानकारी आज आप यहां प्राप्त करेंगे।

दोषपूर्ण बिजली मीटर होने पर क्या करें? | What to do if there is a faulty power meter

दोषपूर्ण बिजली मीटर-समाधान के लिए क्या करें

जब आपको यह पता चल जाए कि आपका बिजली मीटर दोस्तों है या सही से काम नहीं कर रहा है तो सबसे पहले आपको अपनी बिजली प्रदाता कंपनी को सूचित कर देना चाहिए। क्योंकि बिजली मीटर या तो बिजली उपभोक्ता अथवा बिजली देने वाली कंपनी से जुड़ा हो सकता है लेकिन बिजली मीटर को सामान्य बनाए रखने की जिम्मेदारी वास्तव में बिजली वितरण कंपनी की होती है।

सभी राज्यों का बिजली बिल ऑनलाइन चेक कैसे करें? Check Electricity Bill Of All States Online

सीईआरसी (केन्द्रीय विद्युत विनियामक आयोग) के नियमों के अनुसार, बिजली वितरण कंपनियों को हर पाँच साल में, एक बार उपभोक्ता के बिजली मीटर का जांच अवश्य करनी चाहिए जिसकी लागत भी कंपनी है देगी। इस नियम के अनुसार बिजली मीटर की सुरक्षा और सामान्य बनाए रखने की जिम्मेदारी सिर्फ बिजली वितरण कंपनी की होती है।

यदि आप अपने बिजली मीटर की सही जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं कि वह सही से काम कर रहा है या नहीं तो इसके लिए आपको बिजली वितरण कंपनी के लिए आवेदन करने के लिए शुल्क देना पड़ेगा आपके द्वारा आवेदन किए जाने के बाद आपके बिजली मीटर का परीक्षण राज्य विद्युत नियामक आयोग द्वारा अधिकृत प्रयोगशाला की प्रयोगशाला मैं किए जाते हैं। बिजली मीटर की जांच कुछ महीने में की जाती है अपनी जानकारी के लिए बता दें कि महाराष्ट्र के अंदर 2 महीनों में बिजली मीटर की जांच कर सके उसकी रिपोर्ट बिजली उपभोक्ता को दे दी जाती है।

अगर इस समस्या का सही समय पर समाधान न हो तब आप क्या करें?

आप बिजली वितरण कंपनी को बिजली मीटर के दोषपूर्ण होने अथवा उसकी जांच के लिए आवेदन किया है, और अभी तक आपके बिजली मीटर का परीक्षण नहीं की गई है, अथवा बिजली वितरण कंपनी की ओर से किसी ने भी आपकी शिकायत पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी हैं, या फिर आपको अभी तक अपने बिजली मीटर की सही रिपोर्ट नही मिली है तो आपको ऐसी परिस्थिति आपके लिए तुरन्त अपनी शिकायत को वितरण कंपनी के उपभोक्ता शिकायत निवारण फोरम पर दर्ज़ करानी चाहिए।

आपको शायद पता न हो की प्रत्येक बिजली उपभोक्ता को किसी भी बिजली वितरण कंपनी में किसी भी तरह की शिकायत दर्ज करा सकते हैं जो बिजली विभाग द्वारा बिजली उपभोक्ताओं की सहायता के लिए बनाया गया है। इसमे बिजली उपभोक्ताओं की बिजली से सम्बंधित सभी समस्याओं का समाधान किया जाता है।

अगर आप बिजली कंपनी द्वारा दी गयी प्रक्रिया से पूरी तरह संतुष्ट नहीं हैं, तो इसके बाद आप अपने राज्य के विद्युत नियामक आयोग द्वारा नियुक्त राज्य विद्युत लोकपाल के पास जाकर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। राज्य के लोकपाल के पास वह सभी समुचित अधिकार होते है कि वह आपकी बिजली वितरण कंपनियों के साथ आपके विवादों को निष्पक्ष रूप से हल कर सकता है। इसके बाद आपको आपकी समस्या का सही समाधान या हल प्राप्त हो जाएगा।

अगर आपको लगता है की मीटर दोषपूर्ण है, तो तुरंत सूचित करें-

यदि आपका बिजली मीटर दोषपूर्ण पाया जाता है तो आप बिजली वितरण कंपनी को तुरंत सूचित करें। ऐसे मामलों में वितरण कंपनियां केवल पिछले कुछ महीनों के बिलों का ही समायोजन करते हैं ताकि बिजली मीटर के दोस्तपुर होने की जांच हो जाने के बाद जल्दी से आपके बिजली मीटर के दोस्त को दूर किया जा सके इसके लिए बिजली वितरण कंपनी आपसे कुछ महीनों का बिजली बिल एक साथ भूल कर सकती है इसलिए अगर आपका बिजली मीटर बिल सही रीडिंग नहीं दे रहा है तो आपको अपने बिजली मीटर की जांच करने के लिए बिना समय बर्बाद किए तुरंत बिजली वितरण कंपनी को सूचना दे देनी है।

मीटर किसी भी तरह से गलत हो सकता है?

आप सभी जानते हैं या तो मीटर धीमी गति से चलेगा या फिर तेज गति से इसलिए यदि आपका बिजली मीटर धीमी गति से कार्य कर रहा है तो बिजली उपभोक्ता को अधिक धनराशि का भुगतान करना पड़ सकता है। यदि आपके घर में पुराने मैकेनिकल मीट लगे हुए हैं तो इन मीटरों के दिन में चलने की अधिक संभावना रहती है।  बहुत लोग यह शिकायत दर्ज कराते हैं कि उनके पुराने मैकेनिकल मीटर को इलेक्ट्रिक मीटर में बदला गया है जिस कारण उनका बिजली बिल अधिक आता है।

लेकिन वास्तव में जब लोगों के पुराने मैकेनिकल मीटर जो की धीमी गति से चलते हैं थे उन्हें इलेक्ट्रॉनिक मीटर के साथ बदला गया है तो लोगों के बिजली बिल पहले की तुलना में अधिक प्राप्त हुए हैं क्योंकि नए इलेक्ट्रिक मीटर सही रीडिंग प्रदान करता है इसलिए अगर आपका बिजली मीटर सही से काम नहीं कर रहा है तो आप इसे तुरंत सही कराने के उपाय करें अन्यथा आपको अधिक धनराशि का भुगतान करना पड़ सकता है।

निष्कर्ष

भारत में बिजली मीटर का दोषपूर्ण होना एक आम बात है लेकिन इसे दूर करने के लिए हमें तुरंत उपाय करने चाहिए यदि हम ऐसा नहीं करते हैं तो हमें अधिक समस्या हो सकते हैं कई बार ऐसा होता है कि बिजली मीटर बहुत धीरे काम करने लगता है जिसकी वजह से बिजली वितरण कंपनी हमसे अधिक धनराशि वसूल कर सकती है इसलिए जब भी आपको लगे कि आपका बिजली मीटर दोषपूर्ण है तो आप तुरंत बिजली वितरण कंपनी को सूचित करें।

Leave a Comment