बिजली के बिल को कैसे जाने? | How to know your electricity bill | बिजली के बिल के बारे में कुछ जरुरी जानकारी

बिजली के बिल को कैसे जाने?:- अपने महीने के बिल के बारे में जानकारी रखना काफी जरुरी होता है क्योंकि आपको पता होना चाहिए कि आपके द्वारा बिजली की होने वाली खपत और इसके बिजली के टोटल यूनिट के बारे में पता होने के साथ आपको अपने बिजली के टैरिफ के बारे में पता होना भी जरुरी है। यदि आप इन सब बातो के बारे में जानते होते है तो आपको अपने बिजली के बिल को समझने में किसी तरह की कोई दिक्कत नही होती है। आज के अपने इस आर्टिकल में हम आपको इसी के बारे में बतायेगे कि आप अपने बिजली के बिल को किस प्रकार समझ सकते है।

बिजली के बिल को समझना काफी महत्वपूर्ण होता है और यह बिजली की बचत एक साथ साथ बिजली की खपत के कारण आपके बिजली के बिल पर भी काफी प्रभाव डालता है। अपने इस आर्टिकल में हम बिजली के बिल पर विभिन्न वर्गों और सूचनाओं के आधार परप्को कई तरह की जानकारी देगे जो आपको पता होना काफी जरुरी है। अगर आप यह सबी जानकारी लेना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल पर बने रहे जिससे आप यह सभी जानकारी ले पायें।

अपने बिजली बिल के टैरिफ की जानकारी | Know your electricity bill tariff

बिजली के बिल को कैसे जाने

जब भी हमारा बिजली का बिल आता है तब हम बिजली की कुल यूनिट के बारे में नही देखते और ना ही हम यह देखते है कि बिल पर प्रति यूनिट कितना चार्ज लगा है जबकि यह काफी जरुरी जानकारी होती है जबकि हमे इसके बारे में पता होना चाहिये। हमारे बिजली के टैरिफ, हमारे द्वारा खर्च की गयी बिजली के बिल पर लागू दर संरचना निर्धारित करते हैं। लेकिन यह बिजली के टैरिफ बिजली की लाइन के अनुसार अलग लग होते है।

साधारणतः टैरिफ लो टेंशन लाइन जो 230 V सिंगल फेज पर चलती है इसका बिजली का टैरिफ काफी कम होता है जबकि 400 V थ्री फेज लाइन जिसका बिजली का टैरिफ सिंगल फेज की लाइन से ज्यादा होता है। इसके बाद हाई टेंशन लाइन आती है जो 11kV और इससे ऊपर के वोल्टेज की होती है। यह हाई टेंशन लाइन आमतौर पर आवासीय, वाणिज्यिक या उद्धोगो और छोटे कार्यालयों के कनेक्शन के लिए उपयोग किया जाता है।

जैसा कि हमने आपको बताया कि यह बिजली की दरें सभी के लिए अलग अलग होती है, अगर आप अपने बिजली के बिल में बिजली की दरें और यूनिट के बारे में जानकारी नही लेते है तो यह आपके लिए काफी जरुरी होता है क्योंकि कंप्यूटर डाटा ऑपरेटर की गलती से यदि गलत यूनिट या दरें लिखी गई है तो आपका बिल गलत आएगा जिससे आपको काफी नुकसान हो सकता है।

बिजली की सप्लाई और लोड के बारे में जरुरी जानकारी | Important information about power supply and Elictricity load

जब आप अपना बिजली का कनेक्शन कराने जाते है तो वहां आपको यह बताना पड़ता है कि आपका कितने लोड का कनेक्शन लेना चाहते है और उसी के हिसाब से आपका बिजली के कनेक्शन पर बिजली की दरें तय की जाती है। अब हम इसी आपको यह बतायेगे कि यह किस प्रकार आपके बिजली के बिल पर प्रभाव डालता है। जब आप बिजली का कनेक्शन लेते है तो एक मीटर से कनेक्ट होने के बाद ही आपके घर मे दिया जाता है। इस मीटर की गणना किलो-वाट में की जाती है।

जिसे Kw से भी प्रदर्शित किया जाता है। इसी मीटर में ही आपके घर में उपयोग होने वाली बिजली की सभी खपत के के हिसाब से यूनिट कैलकुलेट किये जाते है और इन्ही यूनिट को कैलकुलेट करके आपका बिजली का बिल आता है और यह आपके बिजली बिल पर निर्धारित फिक्स्ड शुल्क को प्रभावित करता है।

इसके अलावा कनेक्टेड लोड यह भी निर्धारित करता है कि आपको किस प्रकार का कनेक्शन दिया गया है जैसे सिंगल फेज कनेक्शन है या थ्री फेज कनेक्शन सैंक्शन आपको दिया गया है। यदि अपने अपने बिजली के कनेक्शन में एक किलोवाट का कनेक्शन लिया है और यदि आपने एक किलोवाट से ज्यादा की बिजली की खपत कर ली है तो यह आपके बिजली के विल को औरभी ज्यादा प्रभावित करता है जिसका मतलब है कि आपको बिल से अधिक जुर्माना देना होगा इसलिए आपको अपने मीटर के लोड के हिसाब से ही अपनी बिजली की खपत करनी चाहिए।

बिजली के यूनिट रेट के बारे में जरुरी जानकारी | Important information about the unit rate of electricity

बिजली यूनिट के बारे में जानकारी लेने के लिए आपको बिजली के यूनिट रेट के बारे में जानकारी होना भी जरुरी है। इसमें आपको यह पता चलता है कि आपने कितनी यूनिट बिजली को खर्च की है और आपने प्रति यूनिट आपको कितना पे करना पड़ रहा है। यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप अपने घर में कितने वाट के और कितने बल्ब जला रहे है। यदि आप किलोवाट के बारे में नही जानते है।

तो अपको बता दु कि किलोवाट विजली को मांपने की इकाई है। यदि आप सौ वाट के बल्ब को 1० घंटे के लिए इस्तेमाल करें तो यह 10 घंटे में 1000 वाट या एक किलोवाट (kWh) बिजली की खपत कर देगा। किसी भी बल्ब का वाट इस बात पर निर्भर करता है कि वह लगातार जलाने पर एक घंटे में बिजली की कितनी खपत करता है।

यह जानकारी आप अपने बिजली के बिल के लगातार दो या तीन महीनों की बिजली के मीटर की रीडिंग के बीच अंतर करके हिसाब कर सकते है। यदि आप अपने द्वारा की गयी बिजली की खपत को जांचना चाहते है तो आप किन्ही दो दिन के बीच यह रीडिंग लेकर समय समय पर देख सकते है और यह पता लगा सकते है कि आपके घर में बिजली की खपत किस प्रकार हो रही है।

निष्कर्ष

समय पर बिजली बिल की जानकारी प्राप्त करके उसे समय पर जमा करना बहुत जरूरी होता है, इसलिए आज हमने अपने इस आर्टिकल में बिजली के बिल को कैसे जाने? के बारे आपको डिटेल में बताया है।

1 thought on “बिजली के बिल को कैसे जाने? | How to know your electricity bill | बिजली के बिल के बारे में कुछ जरुरी जानकारी”

Leave a Comment